यूरोप में ठण्ड ने पकड़ा जोर, बेघर और प्रवासियो के लिए मुसीबत

यूरोप के कुछ हिस्सों में बर्फ के तूफ़ान और खतरनाक तरीके से कम तापमान रविवार को कायम है| पोप फ्रांसिस लोगो को उत्साह दे रहे है जिससे उनका ध्यान ठण्ड से हटाया जा सके| सर्बिया में सहायता के लिए कार्यकर्ताओं ने प्रवासियों पार्क और अस्थायी आश्रयों में किसी न किसी तरह सोने के लिए सैकड़ों में मदद करने के लिए लगे हुए है।

सर्दियों का मौसम है पिछले दिनों यूरोप में चरम पर है| उसने सोचने के लिए मजबूर किया गया है क्योंकि एक दर्जन से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है| छोटे गांवों में बिजली और पानी की कटौती, जमे हुए नदियों और झीलों ने वहां जीना दूभर कर दिया है|

यूरोप में ठण्ड ने पकड़ा जोर, बेघर और प्रवासियो के लिए मुसीबत

यूरोप में शून्य से 30 डिग्री सेल्सियस निचे है तापमान

तीन पुरुषों की शनिवार को पोलैंड में ठंड से मौत हो गई| अधिकारियों ने रविवार को कहा 1 नवंबर के बाद ठण्ड से देश में मरने वालों की संख्या लगभग 55 हो चुकी है। तापमान दक्षिणी पोलैंड के पहाड़ों में शून्य से 30 डिग्री सेल्सियस (शून्य से 22 फारेनहाइट) गिर गया है।

इटली में, आठ लोगों की मृत्यु के लिए ठंड को दोषी ठहराया गया| पॉप फ्रांसिस ने कहा हमारा सील गर्म है| हम बेघरों की मदद करेंगे| हमें ऐसे समय में चाहिए कि हम लोगो को जितना हो सके| ठण्ड से बचा पाए|

काम पर सहायता कार्यकर्ताओं इन साहसिक कार्य किये

बेलग्राद, सर्बिया की राजधानी में कई सौ पुरुषों ज्यादातर अफगानिस्तान और पाकिस्तान से आये है| शहर के बस स्टेशन पर जहां सहायता संगठनों ने उन्हें गर्म रखने के प्रयास में हीटर, कंबल, कपड़े और भोजन एक परित्यक्त सीमा शुल्क गोदाम में वितरित किये।

“हम सब एक साथ काम कर रहे हैं इन लोगों की मदद करने के लिए,” Mirjana Milenkovski संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी एजेंसी के लिए एक प्रवक्ता ने कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: